, ,

कमल मंदिर के बारें रोचक तथ्य – Facts about Lotus Temple in Hindi

Sponsored 

lotus-temple
Source

कालकाजी स्थित कमल मंदिर ना केवल अपने सुंदर आर्किटेक्चर ब्लिक अपने शांत वातावरण के लिये भी जाना जाता है। दूर-दूर से लोग इस सुंदर मंदिर को देखने के लिये आते हैं। इस ब्लाग में हम यहां 20 मजेदार तथ्य आपको बताने जा रहे हैं जो इस मंदिर से जुड़े हुए हैं।

1. कमल मंदरि को एक से बढ़कर एक आर्किटेक्चर अवार्ड दिये गये हैं क्योकि ये दिखने में बहुत ही सुंदर है। ऐसा कम ही हुआ है जब किसी मंदिर को इतने अवार्ड मिले हों

2. कमल मंदिर में किसी भी धर्म का व्यक्ति ना केवल प्रवेश कर सकता है बल्कि प्रार्थना भी कर सकता है। ये सर्वधर्म समभाव का संदेश देता है।

3. ये इमारत सफेद मार्बल के पत्थरों से बनी हुई है और इसमें कुल 27 पखंड़ियां है जिन्हें 3 और 9 के आकार में बनाया गया है।

4. कमल मंदिर में कुल 9 दरवाजे हैं जो कि 40 मीटर के है।

5. कमल मंदिर में एक साथ 2400 लोग तक प्रवेश कर सकते हैं यानि की एक बार में कई लोग यहां प्रार्थना कर सकते हैं।

6. वर्ष 2001 में आई सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार कमल मंदिर एक ऐसी इमारत जिसको देखने के लिये दुनियाभर से बहुत से लोग आते हैं।

7. कमल मंदिर को बनने के लिये लगभग 10 साल का लंबा समय लगा.

8. इसे पहली बार इसे 1986 में खोला गया था।

9. कमल मंदिर में लगा हुआ मार्बल ग्रीस से मंगवाया गया जो कि अपनी बेहतरीन क्वालिटी के लिये जाना जाता है।

10. मंदिर को देखने के लिये प्रत्येक वर्ष लगभग 4 मिलियन से भी अधिक लोग आते हैं जिसके अनुसार हर दिन तकरीबन 10 हजार से ज्यादा लोग आते हैं।

11. जो लोग बहाई धर्म में विश्वास रखते हैं वो यहां विभिन्न तरह की गतिविधियों में भाग ले सकते है। क्योकि मंदिर के प्रबंधन समिति की ओर से कई तरह के इवेंट आयोजित किये जाते हैं।

12. कमल मंदिर के अंदर शोर करने पर सख्त मनाही है। क्योंकि ये अपने शांत तरह के पर्यावरण के लिये जाना जाता है।

13. शोर से बचने के लिये आंगतुको से आग्रह किया जाता है कि वो अपने फुटवियर बाहर ही उतार कर आये।

14. कमल मंदिर के अंदर लकड़ी की बेंच है जो श्रद्धालुओं को बैठकर आराम से ध्यान लगाने में मदद करती है।

15. कमल मंदिर की तरह ही अन्य 6 बहाई धर्म के प्रार्थना-घर आस्ट्रेलिया के सिडनी में, पनामा की पनामा सिटी, वेस्टर्न समोआ के एपिया में, कम्पाला के उगाडा, यूएसए के विलमेट और जर्मनी के फ्रैंकफ्र्ट में हैं।

16. कमल मंदिर के अंदर किसी भी भगवान की कोई मूर्ति नहीं है। यहां लोग सिर्फ भगवान को मन में याद करके पूजा करते हैं।

17. ये मंदिर मूर्ति पूजा में नहीं अपितु ईश्वर की उपस्थिति में विश्वास करता हैं।

18. कालकाजी स्थित कमल मंदिर पूरे एशिया में एकमात्र बहाई मंदिर है।

19. कमल मंदिर में हर एक घंटे में पांच मिनट के लिये स्पेशल प्रार्थनांए आयोजित की जाती है।

20. मंदिर को कमल के आकार का बनाने के पीछे ये उद्देश्य है कि कमल को सभी धर्मों में पूज्नीय व पवित्र माना जाता है।

Sponsored 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जेएनयू से जुड़े रोचक तथ्य – Interesting Facts about JNU

कंप्यूटर के बारे में तथ्य – Facts about Computer in Hindi