in

श्री लाल बहादुर शास्त्री जी से जुड़े कुछ ऱोचक तथ्य – Interesting Facts about Lal Bahadur Shastri

भारत के सबसे चर्चित और सफलतम प्रधानमंत्रियों में से एक श्री लाल बहादुर शास्त्री जी का जीवन दुखो से भरा पड़ा था लेकिन फिर भी वे दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र देश के प्रधानमंत्री बने और बखूबी अपना काम संभाला तो आइये जानते है उनकी बरसी पर Lal Bahadur Shastri से जुड़े कुछ ऱोचक तथ्य।

1. श्री लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म 2 अक्टूबर सन 1904 को उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में हुआ था

2. शास्त्री जी के पिताजी प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक थे अत: सब उन्हें मूंशी जी कह कर बुलाते थे।

3. परिवार में सबसे छोटा होने के कारण बालक लालबहादुर को परिवार वाले प्यार में नन्हें कहकर ही बुलाया करते थे।

4. उनके पिता जी का नाम शारदा श्रीवास्तव प्रसाद और माता जी का नाम रामदुलारी देवी था। उनकी दो बहनें थीं।

5. शास्त्री जी के सिर से उनके पिता का साया महज़ 18 महीने की उम्र में ही उठ गया था।

6. लाल बहादुर शास्त्री बेहद बुद्धिमान थे और आर्थिक तंगी के कारण वो नदी तैरकर स्कूल में पढ़ाई करने जाते थे।

7. लाल बहादुर शास्त्री ने काशी विद्यापीठ से शास्त्री की उपाधि मिलते ही जन्म से चले आ रहे जातिसूचक शब्द श्रीवास्तव को हटा कर अपने नाम के आगे हमेशा के लिए शास्त्री लगा लिया था।

8. लाल बहादुर जी की शादी मिर्जापुर की ललिता देवी से हुई थी।

9. लाल बहादुर जी दहेज़ प्रथा के खिलाफ थे उन्होंने दहेज के तौर पर एक चरखा और कुछ गज कपड़ा ही लिया था।

10. सन् 1964 में लाल बहादुर शास्त्री ने भारत के दूसरे प्रधानमन्त्री के रूप में बागडोर संभाली थी।

11. वे नेहरू जी के बाद करीब 18 महीने तक भारत के प्रधानमंत्री रहे थे।

12. लाल बहादुर शास्त्री के शासन में ही सन् 1965 में भारत-पाक युद्ध शुरू हो गया था। जिसमे भारत ने पाकिस्तान को करारी शिकस्त दी थी।

13. लाल बहादुर शास्त्री जी की 6 संतान थी।

14. “मरो नहीं, मारो!” का नारा लालबहादुर शास्त्री ने ही दिया जिसने क्रान्ति को पूरे देश में प्रचण्ड किया।

15. शास्त्री जी भारत सेवक संघ से जुड़े हुए थे और उन्होंने संस्कृत भाषा में स्नातक स्तर तक की शिक्षा भी समाप्त कर ली थी।

16. स्वतन्त्रता के बाद शास्त्री जी को उत्तर प्रदेश के संसदीय सचिव के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्होंने कांग्रेस को अनेक चुनाव में जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी।

17. भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लाठी की जगह पानी की बौछार का प्रयोग शास्त्री जी ने ही आरंभ किया था।

18. “जय जवान-जय किसान” का नारा शास्त्री जी ने ही दिया था।

19. देश की सभी बसो या अन्य परिवहन में जो आप महिलाओं के लिए आरक्षित सीट देखते हैं उनकी शुरुआत भी लाल बहादुर शास्त्री जी ने ही की थी।

20. लाल बहादुर शास्त्री सिद्धान्तवादी थे एक रेल दुर्घटना के बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

21. भगत सिंह के जीवन पर बनी फ़िल्म ‘शहीद’ देखकर लाल बहादुर शास्त्री जी रो पड़े थे।

22. सूखे की मार झेल रहे भारत को जब अमेरिका ने गेहूँ देने से मना कर दिया तब शास्त्री जी ने कहा की “नही चाहिए हमे तुम्हारें गले-सड़े गेहूँ..” और देशवासियों से अपील की कि हफ्ते में एक दिन उपवास रखे ताकि अनाज की कम लागत हो।

23. लाल बहादुर शास्त्री जी की मृत्यु आज तक एक रहस्य बनी हुई है। दरअसल उनकी मौत चीन में ताशकन्द समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद हार्ट अटैक से हुई थी।

24. बहुत कम लोगो को मालूम है कि लाल बहादुर शास्त्री जी बाल गंगाधर जी से काफी प्रभावित थे।

25. लाल बहादुर शास्त्री जी को देश के सर्वोच्च नागरिक पुरुस्कार “भारत रत्न” से भी नवाजा जा चूका है।

Prev post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

वैलेंटाइन डे बारे में कुछ अनकहे-अनसुने तथ्य – Interesting Facts about Valentine Day

होली के बारे में कुछ रोचक तथ्य – Interesting Facts about Holi in Hindi