in

भारत में आम नागरिकों के कर डाला ऐसा आविष्कार; आप भी करेंगे गर्व

कौन कहता है कि आविष्कार करने के लिये आपको ज्यादा पढ़ालिखा होना चाहिये यहां आज हम आपको ऐसे आम लोगों के बारे में बताने जा रहै हैं जो ये अविष्कार करने के बाद आम नहीं बल्कि खास बन गये हैं तो फिर चलिये जानते हैं ऐसे लोगों के बारें में…
एक खास तरह की बाइक जिसकी लंबाई 9 फुट है और इसका इंजन 1000 सीसी का है। इसको बनाने वाले रिद्धिश राजकोट के रहने वाले है। और इस नायाब बाइक को बनाने में उन्हें करीब सात साल लगे। इस अमेंजिंग बाइक में 1 हजार सीसी का इंजन, हाइड्रोलिक क्लच, 6 स्पीड गियर और एक फुट चौडे ट्यूब लेस टायर है।

Source

जहां लंबी बाइक का निर्माण कम पढे लिखे लोग कर सकते हैं तो क्या कोई 23 इंच की बाइक नहीं बना सकता है। सूरत के मनय बनारसी ने ये कारनामा कर दिखाया है जिसकी लंबाई 3 फुट और वो इस वजह से बाइक नहीं चला पाते है और इसीलिये उन्होनें ऐसी बाइक बऩाई ताकि उनके जैसे छोटी हाइट के लोग बाइक चला पाते थे लेकिन अब विवेक ही नहीं बल्कि उनके जैसे ही दूसरे छोटी हाइट के लोग भा बाइक चला सकते हैं। मनय पेशे से बाइक डिजाइनर है। इस बाइक का वजन है 50 किलो और ये 2 फुट ऊंची है। ये बाइक विवेक और उनके जैसे लोगों के लिये एक वरदान के जैसी है।

Source

क्या आप यकीन मानेंगें की 1 लीटर पेट्रोल में 200 किमी तक कोई साइकिल चल सकती है… नहीं ना..लेकिन ये सच है और ऐसी ही कमाल की साइकिल बनाई है महेसाणा के रहने वाले राजकमल ने। उन्हें ये साइकिल बनाने में लगभग तीन साल का समय लगा। और इसको बाजार में उतारने का प्रयास भी चल रहा है। इस साइकिल की खास बात ये है कि यदि इसको 40 से 50 किलोमीटर तक चल सकती है। इसको चलाने के लिये आपको इसे पैडल से चलाने की जरुरत नहीं है बस साइकिल पर पैडल मारने के बाद क्लच छोड़ दे और ये आपको आपकी मंजिल तक ले जाएगी। इस खास साइकिल में 80 सीसी की टू-स्ट्रोक असेंबल इंजिन लगा हुआ है। इस साइकिल की कीमत करीब 20 से 23 हजार के बीच रहेगी।

Source

आपको ये बात तो दांतो तले उगंली चबाने पर मजबूर कर देंगी की 7वीं तक पढ़े एक किसान नें एक मिनी ट्रक बनाया और जिसकी कीमत बस 60 हजार है। रमेशभाई प्रभुभाई सरडवा के रहने वाले है और केवल 7वीं तक पढे हुये। क्योंकि इनकी रुचि पहले से ही वाहन और इसकी तकनीकी में थी इसलिये ये मैकनिक दुकान पर जाकर भी थोड़ा काम वगौरह सिख लिया करते थे। और इसी शौक नें उन्हें इस बात के लिये प्रेरित किया। उन्होनें इस ट्रक को दो महीने में ही तैयार कर लिया था।

Source

ये सभी कहानियाँ हमें बताती है कि इस बात से ज्यादा फर्क नहीं पढता है कि आप इतने पढे-लिखे है क्योकिं आप कितने मेहनती है और किस तरह से सोचते हैं इस बात का बहुत ज्यादा फर्क पढता है और आज के युवाओं ये समझना बहुत जरुरी है क्योकिं उनकी लाइफ कहीं-ना-कहीं मार्क्स के चारों तरफ ज्यादा घूमती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विकिपीडिया से जुडे रोचक तथ्य – Facts about Wikipedia in Hindi

विज्ञान और टैक्नालाजी से जुड़े कुछ मजेदार तथ्य – Interesting Facts About Science & Technology